नोट बंदी ने बैंक और ग्राहक के बीच भावनात्मक रिश्ते को खत्म कर दिया

सरकारी नियमों ने बैंकों को यह मौक़ा दे दिया कि वे जैसे चाहे वैसे लोगों को परेशान कर सकते हैं। बैंकों का यह रवैया सिर्फ नोटबंदी तक नहीं रहा, आज भी खाते को आधार से लिंक करने के फरमान को बैंक कर्मचारी ग्राहकों को धमकी भरे लहजे में पूरा करने का हुक्म दे रहे है

http://www.janjwar.com/post/bank-employee-misbehave-with-customer-during-notebandi-and-now-update-of-kyc

YOU ARE BEING REDIRECTED TO THE ARTICLE
. . .
× CLOSE

PROCESSING